Relationship Advice: विवाह करने से पहले इन दस बातों का ध्यान रखें

Relationships

यूँ तो हमारे समाज, वेदों, शास्त्रों में चार प्रकार के आश्रम को बताया गया है। जिसमें ब्रह्मचर्य, गृहस्थ, वानप्रस्थ और सन्यास को चिन्हित किया गया है। इन आश्रमों में सबसे महत्वपूर्ण गृहस्थ आश्रम है। जिसके माध्यम से हम जीवन के अपने अगले पड़ाव को व्यवस्थित करते हैं। विवाह एक ऐसा संयोग है, जिसमें सात फेरे लेने से दो व्यक्ति जीवन प्रयत्न एक दूसरे के सुख दुःख के भागीदार बन जाते हैं। इसलिए इस पड़ाव में जीवन साथी को खोजने के लिए आप जल्दी न करें। आपको एक ऐसे जीवनसाथी का…

Read More