Nirmala Sitharaman Biography in Hindi | निर्मला सीतारमण जीवन परिचय

निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण भारतीय जनता पार्टी की राजनेता हैं। वह वर्तमान में भारत के वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री के रूप में सेवारत हैं। वर्ष 2014 से सीतारमण कर्नाटक की राज्यसभा की सदस्य रही हैं।

जीवन परिचय (Biography)

निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त 1959 को तमिलनाडु के मदुरै में हुआ था। उनकी राशि सिंह है। उन्होंने अपना बचपन तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों में बिताया, क्योंकि उनके पिता भारतीय रेलवे में काम करते थे और जिसके चलते उनके पिता की बदली होती रहती थी। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा मद्रास और तिरुचिरापल्ली से प्राप्त की। निर्मला सीतारमण ने स्नातक की पढ़ाई अर्थशास्त्र में सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से प्राप्त की और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली से अर्थशास्त्र में परास्नातक की डिग्री प्राप्त की।

निर्मला सीतारमण कॉलेज के दिनों के दौरान
निर्मला सीतारमण कॉलेज के दिनों के दौरान

उसके बाद उन्होंने जेएनयू में दाखिला जहां वह राजनीति से अवगत हुई। जेएनयू में पढ़ाई करते हुए, निर्मला ने गोदावरी छात्रावास की छात्रा नलिनी रंजन मोहंती का प्रचार किया, जो कॉलेज में अध्यक्ष पद की उम्मीदवार थीं। उसी समय सीतारमण ने इंडो-यूरोपियन टेक्सटाइल ट्रेडों में पीएचडी के लिए दाखिला लिया, लेकिन इसे पूरा नहीं कर सकीं, क्योंकि उनके पति को लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में छात्रवृत्ति मिल गई थी और वे लंदन चली गईं। निर्मला ने लंदन की रीजेंट स्ट्रीट में घर की सजावट की दुकान “हैबिटैट” में एक सेल्सगर्ल के रूप में कार्य किया।

परिवार (Family)

निर्मला सीतारमण एक तमिल अयंगर ब्राह्मण परिवार से संबंधित हैं। उनके पिता, नारायणन सीतारमण भारतीय रेलवे में एक कर्मचारी थे और उनकी माँ, के. सावित्री, एक गृहिणी हैं। उनकी एक बहन है।

निर्मला की मुलाकात राजनीतिक टिप्पणीकार और संचार सलाहकार प्रक्ला प्रभाकर से हुई, जब वह जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पढ़ रही थीं। दोनों वर्ष 1986 में शादी के बंधन में बंध गए। जिससे उनकी एक बेटी है, जिसका नाम वांगमयी है।

निर्मला सीतारमण अपने पति और बेटी के साथ
निर्मला सीतारमण अपने पति और बेटी के साथ

करियर (Career)

निर्मला ने लंदन में एग्रीकल्चरल इंजीनियर्स एसोसिएशन में एक अर्थशास्त्री के सहायक के रूप में अपना करियर बनाने का निश्चय किया। इसके बाद, उन्होंने प्राइसवाटरहाउसकूपर्स, लंदन के अनुसंधान विभाग में एक वरिष्ठ प्रबंधक के रूप में काम किया। फिर, निर्मला सीतारमण ने कुछ समय के लिए बीबीसी वर्ल्ड सर्विस में काम किया। वर्ष 1991 में सीतारमण भारत लौटीं। जहाँ, उन्होंने हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर पब्लिक पॉलिसी स्टडीज़ के निदेशक के रूप में कार्य किया।। NDA शासन (1998-2004) के दौरान, निर्मला को राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) के लिए मनोनीत किया गया, लेकिन वर्ष 2004 में UPA के केंद्र में आने पर उनका कार्यकाल तुरंत समाप्त हो गया। जब वह NCW में शामिल हुईं, तब निर्मला सुषमा स्वराज के संपर्क में आईं। वर्ष 2008 में सीतारमण भाजपा में शामिल हुईं और वर्ष 2010 में पार्टी की प्रवक्ता के रूप में कार्य किया।

निर्मला सीतारमण बीजेपी पार्टी में
निर्मला सीतारमण बीजेपी पार्टी में

उसके बाद वह हैदराबाद से दिल्ली आ गई। वर्ष 2014 में, नरेंद्र मोदी कैबिनेट में स्वतंत्र प्रभार के साथ सीतारमण वाणिज्य मंत्री बनीं। मंत्रिमंडल में फेरबदल के बाद, उन्हें पदोन्नत किया गया और उन्हें वित्त और कॉर्पोरेट मामलों का मंत्रालय दिया गया। 3 सितंबर 2017 को, निर्मला भारत की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री बनीं।

निर्मला सीतारमण कैबिनेट मिनिस्टर के रूप में शपथ ग्रहण करते हुए
निर्मला सीतारमण कैबिनेट मिनिस्टर के रूप में शपथ ग्रहण करते हुए

वह इंदिरा गांधी के बाद यह पद संभालने वाली देश की दूसरी महिला बनीं, जिन्होंने एक बार 20 दिनों तक कार्यभार संभाला था। 30 मई 2019 को, निर्मला भारत की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनीं।

आय (Salary)

उनकी कुल संपत्ति 2.63 करोड़ रुपए (2019 में), इसके अलावा 1 लाख रुपए से अधिक संसद सदस्य के रूप में कुछ अन्य भत्तों का वहन करती है।

रोचक तथ्य (Interesting Facts)

  • उन्हें पुस्तकें पढ़ना, लिखना, शास्त्रीय संगीत सुनना और खाना बनाना बहुत पसंद है।
  • वह हमेशा अनुशासन में कार्य करती हैं, यह सब उन्हें अपने पिता से सिखने को मिला।
  • निर्मला प्लॉट नं.-6, ग्रीन लैंड्स, मंचिरेवाला विलेज, राजेंद्र नगर मंडल, जिला रंगा रेड्डी तेलंगाना में रहती हैं।
  • वैश्वीकरण और विकासशील देशों पर इसका प्रभाव निर्मला के कॉलेज के दिनों से ही पसंदीदा विषय रहा था।
  • जब सीतारमण लंदन के हैबिटैट में सेल्सगर्ल के रूप में काम कर रही थीं, तब उन्होंने क्रिसमस के त्यौहार पर अधिक बिक्री की, जिसमें उन्होंने एक शैम्पेन की बोतल जीती।
  • निर्मला का विवाह एक ऐसे परिवार में हुआ, जो कांग्रेस पार्टी से संबंधित था। उनके ससुर आंध्र प्रदेश की कांग्रेस सरकार में मंत्री थे। वर्ष 1970 के दशक में और उनकी सास आंध्र प्रदेश में कांग्रेस की विधायक थीं।
  • निर्मला “प्रणव” की सह-संस्थापक थी, हैदराबाद का एक प्रतिष्ठित स्कूल।
  • वह भगवान श्री कृष्ण की बहुत बड़ी अनुयायी हैं।
  • सीतारमण ने अपने कॉलेज के दिनों से ही कई चर्चाओं, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं में सक्रिय रूप से भाग लिया।
  • जब सीतारमण भाजपा में शामिल हुईं, तभी उनके पति तेलुगु फिल्म स्टार चिरंजीवी की राजनीतिक पार्टी प्रजा राज्यम में शामिल हुए।

Related posts

Leave a Comment