Pankaj Tripathi Biography in Hindi | पंकज त्रिपाठी जीवन परिचय

पंकज त्रिपाठी

पंकज त्रिपाठी

पंकज त्रिपाठी एक भारतीय अभिनेता हैं, जो मुख्य रूप से बॉलीवुड में कार्य करते हैं। वह अपने अभिनय कौशल के लिए बहुत प्रसिद्ध हैं। जिसके चलते उन्होंने 40 से अधिक फिल्मों और 60 टेलीविजन शो में कार्य किया है। वह फिल्म “गैंग्स ऑफ वासेपुर” में अभिनेता के रूप में सहायक भूमिका के लिए काफी प्रसिद्धि हैं।

जीवन परिचय (Biography)

पंकज त्रिपाठी का जन्म भारत के बिहार के गोपालगंज जिले के एक छोटे से शहर बेलसंद में 5 सितंबर 1976 को हुआ था। उन्होंने गोपालगंज स्थित डी. पी. एच. स्कूल से प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की। त्रिपाठी की बचपन से ही अभिनय करने की रूचि थी। महज 12 वर्ष की आयु में, उन्होंने अपने गांव में ही ‘छठ महोत्सव’ पर एक ‘लड़की कलाकार’ के रूप में प्रदर्शन करना शुरू किया।

पंकज त्रिपाठी

 

उनके पिता चाहते थे कि वह एक डॉक्टर बनें, जिसके लिए उन्होंने पंकज को उच्च अध्ययन के लिए पटना भेज दिया। जहां पढ़ाई करते समय, वह एबीवीपी पार्टी में शामिल हो गए। पंकज पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद में भी अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाते थे। अपनी कॉलेज की शिक्षा पूरी करने के बाद वह होटल प्रबंधन के एक कोर्स में शामिल हो गए और होटल मौर्य में दो साल तक ‘कुक’ के रूप में कार्य किया। उसके बाद, उन्होंने एक अभिनेता के रूप में फिल्मों में शामिल होने का निर्णय किया।

पंकज त्रिपाठी

परिवार (Family)

पंकज का जन्म एक हिन्दू परिवार में हुआ था। उनके पिता पंडित बनारस तिवारी एक किसान और पुजारी हैं, वहीं उनकी माता हेमवती एक गृहणी हैं। उनके तीन बड़े भाई और दो बड़ी बहनें हैं। 15 जनवरी 2004 को उन्होंने मृदुला से विवाह किया। जिसके चलते उनकी एक बेटी है।

पंकज त्रिपाठी अपने माता-पिता के साथ
पंकज त्रिपाठी अपने माता-पिता के साथ
पंकज त्रिपाठी अपनी पत्नी और बेटी के साथ
पंकज त्रिपाठी अपनी पत्नी और बेटी के साथ

करियर (Career)

जब वह पटना में रहते थे, तब वह अभिनय के प्रति आकर्षित हुए। उन्होंने विभिन्न नाटक कार्यक्रमों में जाना शुरू किया। वर्ष 1995 में, उन्होंने भीष्म साहनी की कहानी “लीला नंदलाल की” में स्थानीय चोर की भूमिका निभाई थी, जिसे विजय कुमार (एनएसडी पास आउट) द्वारा निर्देशित किया गया था। दर्शकों और मीडिया द्वारा उनके प्रदर्शन की काफी सराहना की गई। उसके बाद, वह एक नियमित रंगमंच कलाकार बन गए और जिसके चलते उन्होंने 4 वर्षों तक इसका अभ्यास किया।

पंकज त्रिपाठी

पटना में सात साल बिताने के बाद, पंकज दिल्ली चले आए। जहां उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में दाखिला लिया और वर्ष 2004 में स्नातक की डिग्री प्राप्त की। उसके बाद, वह पुनः पटना वापस लौट आए और चार महीने तक थिएटर में कार्य किया।

16 अक्टूबर 2004 को, पंकज त्रिपाठी मुंबई चले गए और अभिषेक बच्चन और विजय राज़ अभिनीत फिल्म ‘रन’ में एक छोटी सी भूमिका निभाई। “गुलाल” नामक टीवी नाटक में एक प्रमुख भूमिका निभाने से पहले उन्होंने फिल्मों और टेलीविजन में कई छोटी भूमिकाएं निभाईं।

टीवी धारावाहिक गुलाल
टीवी धारावाहिक गुलाल

गुलाल के लिए शूटिंग करते समय, पंकज को अनुराग कश्यप की ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के ऑडिशन के लिए एक ऑफर मिला। ऑडिशन लगभग 8 घंटे तक चला, जिसमें उन्हें “सुल्तान” की भूमिका निभानी थी। फिल्म में उनके प्रदर्शन की काफी सराहना की गई। जिसके चलते उन्हें कई फिल्मों फुकरे, मांझी द माउंटेन मैन और मसान में भी कार्य किया।

पंकज त्रिपाठी फिल्म मसान
पंकज त्रिपाठी फिल्म मसान

रोचक तथ्य (Interesting Facts)

  • उन्हें खाना बनाना, यात्रा करना और पुस्तकें पढ़ना बहुत पसंद है।
  • वह अमिताभ बच्चन के बहुत बड़े प्रसंशक हैं।
  • उनकी पत्नी गोरेगांव, मुंबई में एक स्कुल में अध्यापक है।
  • उन्हें फिल्म न्यूटन के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • पंकज त्रिपाठी को अनुराग कश्यप और राम गोपाल वर्मा की फिल्मों में कार्य करना बहुत पसंद है।

Related posts

Leave a Comment