Rajnath Singh Biography in Hindi | राजनाथ सिंह जीवन परिचय

राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रसिद्ध नेताओं में से एक हैं। वह वर्तमान में नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय गृह मंत्री के रूप में कार्यरत हैं। तो चलिए दोस्तों, आज हम उनके जीवन पर आधारित कुछ रोचक तथ्यों को करीब से जानेंगे।

जीवन परिचय (Biography)

राजनाथ सिंह का जन्म 10 जुलाई 1951 को हुआ था। वह कर्क राशि से संबंधित हैं। उनका जन्म उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के भभुरा में हुआ था। उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा भभुरा के एक स्थानीय स्कूल से प्राप्त की। उन्होंने दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय, गोरखपुर से प्रथम श्रेणी से भौतिकी में एमएससी की डिग्री प्राप्त की। उसके बाद उन्होंने के. बी. पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज ऑफ मिर्जापुर, उत्तर प्रदेश में भौतिकी संकाय में लेक्चरर के रूप में कार्य किया। राजनाथ सिंह तेरह वर्ष की आयु में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का हिस्सा बने। उस समय वह आरएसएस की विचारधारा से काफी प्रेरित हुए, जब वह एक लेक्चरर के रूप में कार्य करते थे। राजनाथ सिंह ने आरएसएस में रहते हुए, विभिन्न पदों पर कार्य किया है।

राजनाथ सिंह आरआरएस संगठन में
राजनाथ सिंह आरआरएस संगठन में

परिवार (Family)

राजनाथ सिंह एक हिंदू राजपूत परिवार से संबंधित हैं। उनके पिता रामबदन सिंह, एक किसान थे और उनकी माता गुजराती देवी, एक गृहिणी थीं। उन्होंने सावित्री देवी से विवाह किया। जिससे उनके तीन बच्चे हैं, दो बेटे पंकज सिंह (राजनेता; सबसे बड़ा) और नीरज सिंह (सबसे छोटा) और एक बेटी अनामिका सिंह।

राजनाथ सिंह अपनी पत्नी के साथ
राजनाथ सिंह अपनी पत्नी के साथ
राजनाथ सिंह का बेटा पंकज सिंह
राजनाथ सिंह का बेटा पंकज सिंह
राजनाथ सिंह का बेटा नीरज सिंह
राजनाथ सिंह का बेटा नीरज सिंह

करियर (Political Career)

तो चलिए अब राजनाथ सिंह के करियर को करीब से जानते हैं। वर्ष 1969 में राजनाथ सिंह का राजनीतिक जीवन शुरू हुआ; जब वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP; RSS के छात्रसंघ) गोरखपुर मंडल के संगठन सचिव बने। वर्ष 1972 में, उन्हें मिर्जापुर के ABVP संगठन के महासचिव के रूप में पदोन्नत किया गया।

वर्ष 1974 में, उन्होंने आधिकारिक रूप से राजनीति में प्रवेश किया और मिर्जापुर के भारतीय जनसंघ (भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती) के महासचिव बने। उस समय उन्हें भारतीय जनसंघ के जिला अध्यक्ष और जय प्रकाश नारायण आंदोलन के जिला समन्वयक के रूप में नियुक्त किया गया। इस आंदोलन के दौरान वह पहली बार जेल गए थे।

वर्ष 1977 में, वह यूपी विधानसभा में एक विधायक के रूप में चुने गए। वर्ष 1983 में, उन्हें यूपी की भारतीय जनता पार्टी के राज्य सचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्हें भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के राज्य प्रमुख के रूप में भी नियुक्त किया गया और वर्ष 1988 में BJYM के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में भी राजनाथ सिंह को चुना गया। वर्ष 1998 में, उन्होंने एक पुस्तक लिखी- बेरोजगारी के कारण और उपचार। उसी वर्ष, उन्हें यूपी विधान परिषद के लिए एक एमएलसी के रूप में चुना गया और अंततः वर्ष 1991 में वह यूपी के शिक्षा मंत्री बने, जब भाजपा ने अपनी पहली सरकार बनाई थी। वर्ष 1992 में उन्होंने एक शिक्षा मंत्री के रूप में एंटी-कॉपिंग एक्ट को लागु किया, जिसका पुरे देश ने समर्थन किया।

वर्ष 1994 में वह राज्यसभा के लिए एक सांसद के रूप में और भाजपा के मुख्य सचेतक के रूप में चुने गए। वर्ष 1997 में, उन्हें यूपी क्षेत्र के बीजेपी का अध्यक्ष पद की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई। 22 नवंबर 1999 को, जब अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री बने, तब उन्होंने राजनाथ सिंह को केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नियुक्त किया। उस दौरान राजनाथ सिंह ने अटल बिहारी के ड्रीम प्रोजेक्ट के मद्देनजर राष्ट्रीय राजमार्ग विकास कार्यक्रम को शुरू किया था। 28 अक्टूबर 2000 को, वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। वर्ष 2002 में, उन्हें भाजपा का राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त किया गया। उसके अगले वर्ष, वह केंद्रीय कृषि और खाद्य प्रसंस्करण मंत्री बने। भाजपा के महासचिव बनने के बाद, उन्होंने पार्टी को मजबूत करने के लिए पूरे भारत के कार्यकर्ताओं से मिलने के लिए पूरे देश का दौरा किया। वर्ष 2004 में, उन्हें दूसरी बार राष्ट्रीय महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। वह 31 दिसंबर 2005 को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने। मई 2014 में, वह लखनऊ निर्वाचन क्षेत्र से एक सांसद के रूप में चुने गए और 26 मई 2014 को उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार में भारत के केंद्रीय गृह मंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।

रोचक तथ्य (Intresting facts)

  • राजनाथ सिंह एक होनहार छात्र थे। जिसके चलते वह हमेशा कक्षा में उच्च अंक प्राप्त करते थे।
  • वर्ष 2001 में, राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली और नोएडा को जोड़ने के लिए प्रसिद्ध डीएनडी फ्लाईओवर का उद्घाटन किया।
  • उनका बड़ा बेटा पंकज सिंह, उत्तर प्रदेश में भाजपा के महासचिव हैं। यही-नहीं वह नोएडा से विधायक भी हैं।
  • केंद्रीय कृषि मंत्री के रूप में, उन्होंने कई योजनाए लागू कीं, जिससे किसानों को बहुत फायदा हुआ। जैसे कि- किसान कॉल सेंटर, कृषि आय बीमा योजना, इत्यादि।

Related posts

Leave a Comment