Union Budget 2019-20 | आम बजट 2019-20

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री के रूप में दूसरा कार्यकाल शुरू हो चूका हैं। जिसका हाल ही में बजट पेश किया गया है। जिसे नवनिर्वाचित वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया है। इस बजट में देश के सभी क्षेत्रों जैसे ग्रामीण, किसान, शहरी, महिलाएं, टैक्स, रेल आदि को बढ़ावा देने के लिए उचित व्यवस्था की गई है। इस बजट में किन किन मुख्य मुद्दों पर चर्चा की गयी हैं एवं इसमें पहले के बजट की तुलना में क्या – क्या बदलाव किया गया है। इन सब के बारे में विस्तार से पढ़ें।

आम बजट 2019 की कुछ महत्वपूर्ण जानकारी (Union Budget 2019 Important Highlights)

  • कृषि ग्रामीण उद्योगों में 75,000 कुशल उद्यमियों के विकास के लिए एस्पायर के तहत वर्ष 2019-20 में 80 आजीविका व्यवसाय इनक्यूबेटरों और 20 टेक्नोलॉजी बिज़नस इनक्यूबेटरों की स्थापना की जाएगी।
  • 400 करोड़ टर्नओवर वाली कंपनियों पर कॉर्पोरेट टेक्स 25 प्रतिशत, इससे पहले इन पर 30 प्रतिशत टेक्स लगता था।
  • आम आदमी को आयकर में तीन लाख रुपए की अतिरिक्त रियायत दी गयी है। इसका लाभ लेने के लिए मकान और वाहन खरीदना होगा। मार्च 2020 तक आवास ऋण लेने वाले को ब्याज पर आयकर छूट 2 लाख से 3.5 लाख कर दी गई है।
  • डिजिटल भुगतान करने वाले कारोबारियों पर लेन देन पर ग्राहकों को रियायत दी गयी है। जिसके चलते कैशलेस लेनदेन पर किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लगाया जायेगा।
  • इस बार बजट में महिलाओं की सुरक्षा योजना के तहत 20 करोड़ से बढ़कर 30 करोड़ रुपए बढ़ा दी गयी है।
  • स्टार्टअप के लिए, डीडी नेशनल पर एक टेलीविजन कार्यक्रम शुरू करने का प्रस्ताव रखा गया है, जिससे स्वयं स्टार्टअप के माध्यम से डिज़ाइन एवं एक्सीक्यूट किया जा सके।
  • जन धन खाते वाले प्रत्येक सत्यापित महिला, जोकि एसएचजी की सदस्य हैं, उनके लिए 5,000 रुपए के ओवरड्राफ्ट की अनुमति भी दी गयी।
  • इसके अलावा उच्चतम आय वर्ग के लोगों को राष्ट्रीय विकास में अधिक योगदान देना होगा। 2 से 5 करोड़ रूपए की व्यक्तिगत आय पर सरचार्ज 3 % और 5 करोड़ से ऊपर की व्यक्तिगत आय पर यह 7 % करने का प्रस्ताव दिया गया है।
  • मध्यम वर्ग के लोगों में जोकि आयकर दाता हैं उनके लिए कोई भी बदलाव नहीं किया गया है।

Related posts

Leave a Comment